>

Create Account | Sign In
Search Submit Your Story
:
अभी तक क्या किया भारत के लोगो ने
latest news
Saturday,19-Apr-2014
रुश्दी को लेकर भाजपा आग लगाने में जुट- गहलोत
20-01-2012
जयपुर
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को यहां बिड़ला ऑडिटोरियम में राज्य स्तरीय हस्तशिल्प बुनकर एवं निर्यात पुरस्कार वितरण समारोह में शिरकत करने के बाद मीडिया कर्मियों से बात करते हुए कहा कि सलमान रुश्दी का अधिकृत रूप में उनके पास कोई प्रोग्राम नहीं आया है. जहां तक इसके विरोध का सवाल है तो आयोजक खुद आगे आकर कोई ऎसा निर्णय कर लें कि ऎसी नौबत ही नहीं आये. सरकार कानून और व्यवस्था खराब होने की स्थिति कभी नहीं चाहेगी.

उन्होंने कहा कि भाजपा के शासन में सलमान रुश्दी आये थे, तब भाजपाई बोले ही नहीं और अब वर्ग विशेष को भड़काने का काम कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने पहले भी कई बार कहा कि भाजपाई हमेशा आग लगाने का ही काम करते हैं और कांग्रेस के लोग हमेशा आग बुझाने का. आयोजक खुद ही इतने समझदार एवं बुद्धिजीवी लोग हैं कि वे विरोध की भावना को समझ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि कोई न कोई रास्ता निकलेगा और ऎसी नौबत नहीं आयेगी.

मुख्यमंत्री से बातचीत ज्यों कि त्यों इस प्रकार है :-

प्रश्न : सलमान रूश्दी के जयपुर आने के संबंध में ?
सलमान रूशदी साहब का प्रोग्राम हमारे पास तो कोई है नहीं. खाली मीडिया में हमने पढ़ा और कुछ मुस्लिम संगठन के लोग हमसे मिले, उन्होंने अपनी भावना का इजहार किया. मैंने पहले भी कहा कि हमने कन-वे किया भारत सरकार को भी, और बाकी अभी तक तो कोई आफिशियल प्रोग्राम हमारे पास आया नहीं. हमें कुछ कहा नहीं गया है और ना कोई प्रोग्राम आफिशियली- अन-आफिशियली हमें दिया गया है. और मैं समझता हूं कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल बहुत शानदार है जिस रूप में यह आर्गनाइज हो रहा है, यह लिटरेचर फेस्टिवल अपने आप में जयपुर के लिये एक बड़ी उपलब्धि है और इसको प्रोत्साहन समाज को भी, सबको देना चाहिये. यह किसी तरह डिस्टर्ब नहीं हो. इनकी हौंसला-अफजाई भी हो, क्योंकि आज यह देश की सीमाओं को पार कर गया है यानि पूरी दुनिया के लोग इसकी तारीफ करते हैं, एप्रीशियेट करते हैं. तो जितने बड़े कलाकारों का, साहित्यकारों का, सबका एक संगम होना, यह जयपुर और राजस्थान के लिये एक बड़ी उपलब्धि है. तो यह डिस्टर्ब भी नहीं हो और सबके आपस में कोई सुझाव हैं तो इनको सुझाव दें. अगर उनकी भावना को ठेस पहुंची है, आयोजकों को कहें. हो सकता है आयोजक खुद भी आगे आकर के कोई ऎसा निर्णय कर लें तो कहीं नौबत ही नहीं आयेगी. मैं नहीं चाहूंगा कि कोई ऎसी नौबत आये कि लॉ एण्ड आर्डर की स्थिति खराब हो. सरकार इसको कभी नहीं चाहेगी.

प्रश्न : केन्द्र सरकार से कोई संकेत स्टेट गवर्नमेंट को मिला है क्या ?
केन्द्र सरकार तो पहले ही कह चुकी है कि यह राज्य का, आयोजकों का काम है कि वह क्या निर्णय करते हैं. केन्द्र इसमें बीच में नहीं आता है.

प्रश्न : नहीं, आपने संकेत दिये हैं ?
मैंने यहां की जो फीलिंग थी, वह कनवे की है. भारत सरकार के मंत्री को कनवे करना तो वैसे, मैं समझता हूं ठीक भी रहता है.

प्रश्न : पहले भी आ चुके हैं, लेकिन बीजेपी द्वारा चुनाव को देखकर मोर्चा उठाया है ?
अब बीजेपी इसको लेकर राजनीति करती है, उसका हमारे पास इलाज नहीं है. बीजेपी के शासन में तो वह आये थे यहां पर, तब तो बोले नहीं वह. अब वह वर्ग विशेष को भड़काने का काम करते हैं. तो मैंने आपको पहले कई बार कहा कि हमेशा उनकी विचारधारा, उनकी नीतियां, उनके सिद्धान्त इस मुल्क को मालूम ही नहीं है. यही तो दुर्भाग्य है कि जो मुख्य विपक्षी दल कहलाता है, उसके 50 साल में भी अपने प्रिंसिपल्स, अपनी पॉलिसी, प्रोग्राम वह देश को दे नहीं पाई. उसके आधार पर चुनाव जीतने के लिये लड़ाई लड़े, जो डेमोक्रेसी के अंदर जरूरी भी है. उसके बजाय ये धर्म के नाम पर, जाति के नाम पर, गौ-माता के नाम पर, राम मंदिर के नाम पर, धारा 370 के नाम पर, कॉमन सिविल कोड के नाम पर, यह हमेशा भड़काने का काम करते हैं. अब भी यही काम कर रहे हैं. पहले भी मैंने कई बार कहा, हमेशा यह आग लगाने का ही काम करते हैं और कांग्रेस के लोग हमेशा आग बुझाने का काम करते हैं. अब भी आप देख लीजिये कि इनके राज में जब वह आये थे, तब कोई नहीं बोला. अब यह खुद ही एक वर्ग विशेष को भड़का रहे हैं. अगर कोई मान लो, उनके दिल में बात है तो मैं समझता हूं आयोजक जो हैं, वह इतने समझदार लोग हैंं, बुद्धिजीवी लोग हैं, वह भी इनकी भावना समझ रहे हैं. जैसे आप-हम समझते हैं, हर नागरिक समझ रहा है तो जो आयोजक हैं, वह भी समझ रहे हैं. मैं समझता हूं कोई न कोई रास्ता निकलेगा और ऎसी नौबत ही नहीं आयेगी. मुझे पूरा यकीन है कि राजस्थान का यह फेस्टिवल हमेशा-हमेशा के लिये यहां कायम रहे, यह फले-फूले, आगे बढ़े और राजस्थान की एक अलग पहचान बने, यह मेरी ख्वाहिश रहेगी और सरकार इनको पूरा सहयोग देना चाहेगी.

प्रश्न : दिल्ली दौरे के संबंध में ?
दिल्ली में जाते हैं तो विभिन्न विभागों के जो पेंडिंग काम होते हैं, वह जाकर परश्यू करते हैं, तो अच्छा रहा.

प्रश्न : पुरस्कार और सम्मान से क्या मैसेज जाता है ?
सम्मान करना एक प्रकार से हौंसला अफजाई करना है. आपने देखा कि जिस प्रकार से शिल्पी, बुनकरों और निर्यातकों में उत्साह था. प्रतिवर्ष समय पर होने ही चाहिये. हम सोचते हैं कि 30 मार्च को जब राजस्थान दिवस हो, अभी एक सुझाव आया भी था, तो हम सोचते हैं कि एक दिन निश्चित हो जाये. सम्मान समारोह तो होना ही है, तो ज्यादा बेहतर रहेगा और मैं समझता हूं कि राजस्थान में तो चाहे बुनकर का काम हो, चाहे हस्तशिल्पी का काम हो, एक्सपोर्ट भी बहुत ज्यादा बढ़ा है. अभी 23 हजार करोड़ के फीगर दिये गये, इतना एक्सपोर्ट होना बड़ी बात है. राजस्थान सब तरीके से प्रोत्साहन देने वाले राज्य के रूप में हमेशा आगे रहेगा. सरकार की तरफ से भी इनको पूरा सहयोग मिलेगा.
..............................................................................................................................................................
..............................................................................................................................................................
 
Post a new comment
 
 
 
Your Name
 
Email- id  
 
 
 
 
 
 
    Latest Video
1932 में महाराजा मान सिंह- 2 की शादी का दृश्य, देखे fashion show in jaipur
महंगी कार का वीआईपी नंबर फैशन का जलवा जयपुर में
 
 
 
      
 
 
    Photo Gallery
Something
Something
खिलाडी 786 खिलाडी 786
Something
Something
खिलाडी 786 खिलाडी 786
 
 
जानीये इनके बारे में
आमिर को कभी भी फोन कर सकती हूं : रानी
मुंबई. रानी और आमिर की जोड़ी लगभग 14 साल पुरानी है. खंडाला गर्ल..
 
 
 
 
You have to login first.
 
 
 
Forgot password     New User Login
 
सलमान को एक फिल्‍म के मिले सौ करोड
सेक्सी फील करने के कुछ टिप्स
स्मार्ट सेक्स के तरीके !
सेक्स में ट्राई कीजिए ये 5 पोजीशन
 
आदमी और औरत में क्या....
आदमी और औरत में क्या अंतर हैं?
.....................................
लडकी: तुम ऐसी-वैसी हरकत.?
लडकी: तुम ऐसी-वैसी हरकत तो नही करोगे?
.....................................
 
 
 
Copyright (C) 2011 M/S 999 Venture’s Home | Headlines | State | Country | World | Business | LifeStyle | Sport | Videos | Technology | Jyotish | Mulakat | Gallery  
Follow Us on:          Terms & Condition    l    Privacy Policies    l    Advertise with Us    l    Contact Us
                       Design & Powered by M.S.Technosoft Pvt.Ltd.